Tuesday, June 18, 2024
राजनीतीसंस्कृतिहिमाचल

राज्य स्तरीय माँ शूलिनी मेला-2023 में सुरक्षा और सन्तुष्टि के साथ होगा परम्पराओं का निर्वहन – डाॅ. शांडिल सोलन ब्यूरो:11.06.2023

Spread the love

राज्य स्तरीय माँ शूलिनी मेला-2023 में सुरक्षा और सन्तुष्टि के साथ होगा परम्पराओं का निर्वहन – डाॅ. शांडिल

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता तथा श्रम एवं रोज़गार मंत्री डाॅ. कर्नल धनीराम शांडिल ने कहा कि राज्य स्तरीय माँ शूलिनी मेला-2023 में सुरक्षा और सन्तुष्टि के साथ परम्पराओं का निर्वहन किया जाएगा। डाॅ. शांडिल आज यहां माँ शूलिनी मेला की तैयारियों के संबंध में आयोजित बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।डाॅ. शांडिल ने कहा कि माँ शूलिनी मेला सोलन सहित सिरमौर, शिमला एवं अन्य क्षेत्रों की आस्था का केन्द्र है। उन्होंने कहा कि मेले में सभी लोग माँ शूलिनी के दर्शन एवं उनका आशीर्वाद प्राप्त करने आते हंै। ऐसे में आवश्यक है कि जन आस्था का सम्मान करते हुए सभी की सुरक्षा का पूर्ण ध्यान रखा जाए। उन्होंने कहा कि सभी को सुरक्षित रूप से माँ शूलिनी के दर्शन करवाना ज़िला प्रशासन का नैतिक उत्तरदायित्व है। उन्होंने उपायुक्त एवं पुलिस अधीक्षक सोलन को निर्देश दिए कि इस दिशा में पूरी योजना के साथ व्यवस्था को अंतिम रूप प्रदान किया जाए।स्वास्थ्य मंत्री ने निर्देश दिए कि राज्य स्तरीय इस मेले में स्वच्छता का विशेष ध्यान रखा जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि मेले के दौरान विभिन्न स्थानों पर आयोजित किए जाने वाले भण्डारों में सफाई व्यवस्था सुनिश्चित बनाई जाए। उन्होंने भण्डारों के दौरान तैयार किए गए भोजन इत्यादि की उचित जांच के निर्देश भी दिए।

डाॅ. शांडिल ने कहा कि मेले में आयोजित होने वाली सांस्कृतिक संध्याओं में गुणवत्ता का ध्यान रखा जाए। उन्होंने समय के अनुसार उभरते हुए कलाकारों को उचित मौका प्रदान करने के निर्देश दिए।उन्होंने कहा कि सोलन शहर में मेला आयोजन स्थल के साथ-साथ सभी वार्डों में भी स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। स्वच्छता के क्षेत्र में बेहतर कार्य करने वाले वार्डों को सम्मानित किया जाएगा। डाॅ. शांडिल ने कहा कि मेला मेल-जोल का परिचायक है। उन्होंने आशा जताई कि सभी के सहयोग से इस वर्ष मेला अपने आयोजन में पूर्ण रूप से सफल रहेगा।उपायुक्त एवं राज्य स्तरीय माँ शूलिनी मेला समिति के अध्यक्ष मनमोहन शर्मा ने मुख्यातिथि का स्वागत करते हुए मेला आयोजन के संबंध में विस्तृत जानकारी प्रदान की।

उन्होंने कहा कि तीन दिवसीय माँ शूलिनी मेला में भण्डारे आयोजित करने के लिए आॅनलाईन अनुमति प्राप्त करनी होगी। कूड़ा निष्पादन के लिए भण्डारा आयोजकों का भी उत्तरदायित्व होगा। इस दिशा में ज़िला प्रशासन द्वारा बनाई गई निरीक्षण टीमें नियमित जांच करेगी। उन्होंने कहा कि मेला स्थल पर बैठने की व्यवस्था का ध्यान रखा जाएगा। मेला अवधि में ठोडो मैदान के अतिरिक्त दो-तीन संवेदनशील स्थलों पर एम्बुलैंस तैनात रहेगी। उन्होंने कहा कि मेले के दौरान आयोजित की जाने वाली गतिविधियों के लिए गठित समितियां कार्य कर रही हैं। उन्होंने कहा कि मेला अवधि में बेहतरीन सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुति, स्वच्छता एवं प्राथमिक सहायता के लिए उचित दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

उन्होंने विश्वास दिलाया कि राज्य स्तरीय मेले को सफल बनाने के लिए सभी के सहयोग से कार्य किया जाएगा। पुलिस अधीक्षक सोलन वीरेन्द्र शर्मा ने मेला अवधि में सुरक्षा व्यवस्था की पूर्ण जानकारी प्रदान की। उन्होंने कहा कि मेला स्थल एवं आस-पास के क्षेत्र की ड्रोन द्वारा निगरानी की जाएगी तथा सभी आवश्यक स्थानों पर समुचित संख्या में पुलिस बल की तैनाती रहेगी।
अतिरिक्त उपायुक्त एवं मेला अधिकारी अजय यादव ने विभिन्न समितियों के गठन एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम इत्यादि की रूपरेखा प्रस्तुत की।
बैठक में विभिन्न गैर सरकारी सदस्यों ने बहुमूल्य सुझाव प्रस्तुत किए।
नगर निगम सोलन की महापौर पूनम ग्रोवर, उप महापौर राजीव कौडा, पार्षदगण, ज़िला कांग्रेस समिति के अध्यक्ष शिव कुमार, नगर परिषद सोलन के पूर्व अध्यक्ष कुल राकेश पंत, प्रदेश कांग्रेस महासचिव रमेश ठाकुर, सुरेन्द्र सेठी, बघाट बैंक के अध्यक्ष अरुण शर्मा, खण्ड कांग्रेस समिति के अध्यक्ष संजीव ठाकुर, अरविंद गुप्ता, कांग्रेस पार्टी के विभिन्न पदाधिकारी, नगर निगम सोलन के आयुक्त ज़फ़र इकबाल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक योगेश रौल्टा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. राजन उप्पल, नगर निगम सोलन की संयुक्त आयुक्त प्रियंका, पुलिस उपाधीक्षक भीष्म ठाकुर एवं अनिल धौल्टा, विभिन्न समितियों के गैर-सरकारी सदस्य, कल्याणो के प्रतिनिधि, माँ शूलिनी देवी सेवा मण्डल के सदस्य, प्रेस के सदस्य, विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी इस अवसर उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *